संस्करण: 10दिसम्बर-2007

CLICK    HERE    TO    DOWNLOAD    HINDI FONT

आयकर का हिसाब और 
राजनैतिक हैसियत
xr fnuks jkT;lHkk es lektoknh ikVh 
की सांसद जया बच्चन ने कहा कि सर्विस 
टैक्स अधिकारी उनके परिवार से अभिषेक
बच्चन और ऐश्वर्या  > वीरेन्द्र जैन 


तस्लीमा नसरीन प्रकरण

स्लीमा नसरीन को धार्मिक कट्ठरतावाद से सुरक्षा दी ही जानी चाहिये थी। यह न केवल इसलिए दी >वीरेन्द्र जैन



किसान पुत्र के राज में आत्महत्या

ध्यप्रदेश सचमुच एक अभागा राज्य
हैं। राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह 
चौहान, अपनी राजनीति के लिये ''गांव 
गरीब के  > विनय दीक्षित 


विश्वविद्यालयों की हालत खस्ता है

प्रदेश के विश्वविद्यालयों की हालत 
खस्ता है। वे समाज व शिक्षा के 
क्षेत्र में वह भूमिका अदा नहीं कर 
पा रहे हैं > एल.एस.हरदेनिया


संदर्भ:-ग्लोबल कंपनियों का

ग्लोबल वार्मिंग के सिलसिले में डेढ़ सौ ग्लोबल कंपनिया द्वारा जलवायु परिवर्तन के आसन्न संकट को  >प्रमोद भार्गव



jk"VHkk"kk fganh cus U;k;ky;hu Hkk"kk

laसद की अधिकृत भाषा समिति ने हिंदी को सुप्रीम कोर्ट एवं हाई कोर्ट में अंग्रेज़ी के साथ आधि  > डॉ. गीता गुप्त



इंटरनेट मीडिया की संभावनाएं

भारत में इंटरनेट सबसे तेजी से बढता मीडिया है। मनोरंजन ओर संचार के अब तक उपलब्धा माधयमो को >मिथिलेश कुमार



आतंकवाद और सरकार की नीतियां

रत में तीनों किस्म के आतंकवाद मौजूद हैं पहला वैचारिक जिसमें नक्सलवाद आता है   > नीरज नैयर


तसलीमा और हुसैन

आस-पास

zvkस-पास एक खेल है यह आंख 
मिचौली के नाम से अधिक प्रचलित
है । उत्तर बिहार में इस  खेल  को 
बच्चे प्राय:   > दुलार बाबू ठाकुर 


उमा भारती की भाजपा-वापसी

न दिनों उमा भारती फिर सुर्ख़ियों में हैं। कभी गुजरात में अपनी पार्टी के प्रत्याशी खड़े करने पर, कभी उन्हें बैठाने पर तो कभी प्रत्याशियों द्वारा बग़ावत > महेश बाग़



सफेद दूध का कालाधंधा फेलती बीमारियां

ckज़ारवाद के इस दौर में व्यक्ति को जीवनोपयोगी वस्तुओं की पूर्ति तो हो रही है, किंतु प्राप्त होने वाली वह वस्तु कितनी शुध्द और कितनी अशुध्द   > राजेन्द्र जोशी



ब्यूरोक्रेसी के पुनर्वास केन्द्र बनते म.प्र. के विश्वविद्यालय

e-प्र. के विश्वविद्यालय नौकरशाहों के पुनर्वास केन्द्र बनते जा रहे हैं, हाल ही में भोपाल के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में भूपाल सिंह > अजय खेमरिया  



ck;ksesfVDl % igpku vkSj lR;kiu dk vuks[kk rjhdk

e-iz- dh jktkkuh Hkksiky ds ,d egkfo|ky; esa f'k{kdksa dh mifLFkfr ntZ djkus ds fy, yxkb xbZ ck;ksesfVDl +++++  >डॉ. सुनील शर्मा



बच्चे किस उम्र तक ? कैसे निर्धारित ह

न्द्रह वर्षीय छोटू मज़बूरीवश एक कारखाने
में काम तो करता है, लेकिन उसका मन 
पढ़ने को करता है परंतु वह चाह कर भी 
पढ़  नहीं  पा  रहा   > हरीश बाबू 


'नारी श्रम-अपेक्षित या उपेक्षित'

fdसी भी देश की अर्थव्यवस्था में महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान होता है। परन्तु प्राय: देखा जाता है कि पुरुष नारी श्रम का उचित सम्मान नहीं  >स्वाति शर्मा



         10 fnlacj 2007  

                                                                        Designed by-PS Associates
                                                                                 Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved