संस्करण: 31मार्च-2008

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT

आत्मकथा बनाम छवि सुधार कार्यक्रम
इन दिनों आत्मकथा शब्द का बहुत दुरूपयोग होने लगा है। दूसरे शब्दों में कहा जाये तो दोहरे चरित्र वाले समाज में यह शब्द उन वक्तव्यों बयानों आदि के ऊपर लगाया जाने लगा है जो किसी पद के  >वीरेन्द्र जैन



     


आडवानी ने माना-भाजपा पर संघ का नियंत्रण है
जब से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने भारतीय जनसंघ और बाद में भारतीय जनता पार्टी का गठन किया है उसी समय से यह आरोप लगाया जाता रहा है कि पूर्व में भारतीय जनसंघ और उसके बाद  >एल.एस.हरदेनिया


काँग्रेस में बढ़ी एकता, भाजपा में ऊपर आई अनेकता
अपनी पिछली राजनैतिक यात्राओं के दौरान जख्मी हुई काँग्रेस अपनी आगामी यात्रा के लिए अब सम्हलने में लग गई है। 'अपनी-अपनी ढपली, अपनी-अपनी राग' के अभिशाप से उबरकर काँग्रेस आगाम >राजेन्द्र जोशी


      


                    


तिब्बत की मज़बूत होती राष्ट्रीय आकांक्षाये
महाशक्ति चीन की विस्तारवादी दमनकारी नीतियों का सिलसिला अनवरत रहने के बावजूद तिब्बत की राष्ट्रीय महत्वाकांक्षायें मजबूत होती दिखाई दे रही हैं। 'तिब्बत दिवस' दस मार्च को ल्हासा में चीनी >प्रमोद भार्गव


दुनिया की छत पर भीषण झंझावात
इंटरनेट पर सेलफोन छायाचित्रों और वीडियो फुटेज से तिब्बत पर चीनी कहर से पूरा विश्व स्तब्धा है। मानवाधिकार और तंत्र की धाज्जियां उड़ रही हैं, किंतु सर्वाधिक शक्तिशाली देश  >अंजनी कुमार झा



         


हंगामा है क्यूँ बरपा....
 केन्द्र द्वारा गरीब किसानों की कर्जमाफी की घोषणा के बाद से प्राय: सभी समाचार माधयमों में सरकार के इस कदम को लेकर हंगामा मचा हुआ है। विपक्षी दलों व कई लेखकों-कृषि विशेषज्ञों के विचारों को पढ़-सुनकर ऐसा >सुनील अमर


सरकार के प्रति बढ़ता किसानों का आक्रोश
विगत माह भोपाल में किसानों की महापंचायत कर म.प्र. के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने को किसानों का हमदर्द एवं किसान का बेटा होने की बात कही।इस चुनावी वर्ष में मज़दूर-किसानों >राजेन्द्र श्रीवास्तव


        


    


प्रो. सभरवाल मामले में म.प्र.सरकार फिर सवालों के दायरे में
बीजेपी शासित सूबों में मजलूमों को इंसाफ मिलना कितना मुश्किल भरा काम है। ये सारे मुल्क ने गुजरात में दंगा पीड़ितों के मामले में देखा है। सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद जब मुकदमें >ज़ाहिद खान


भेदभाव के आरोप का सच
भाजपा शासित मधयप्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान अक्सर काँग्रेस के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार पर भेदभाव, असहयोग, विकास योजनाओं के लिए पर्याप्त  >अमिताभ पाण्डेय




पिछड़ापन, बुंदेलखंड में नक्सलवाद का सबब बन सकता है।
छोटे राज्य जहाँ प्रशासन के लिहाज से सुविधाजनक होते हैं वहीं वे अपेक्षया तेज़ी से विकास करते हैं। पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड >अखिलेश सोलंकी     


दवा संस्कृति के दुष्परिणाम
दुनिया में संभवत: भारत ही एक ऐसा देश है, जहाँ दवाओं का व्यापार तो खूब होता है, लेकिन उससे जुड़ी हुई सावधानियों को पूरी तरह नज़र अंदाज किया जाता है। ऐसे में कई दवाएँ ज़हर का काम करती हैं  >महेश बाग़ी

 

          

 

        

''ऊर्जा संकट का हल-गाय''

यदि एक बैरल कच्चे तेल की कीमत में एक डॉलर की वृध्दि होती है तो भारत के तेल आयात बिल में 425 मिलियन डॉलर का अतिरिक्त व्यय जुड़ जाता है, अर्थात तेल की कीमतों में वृध्दि का सीधा असर हमारे मुद्रा  >डॉ. सुनील शर्मा


प्रदूषण से जीवन के अस्तित्व को खतरा
अनियोजित औद्योगिक विकास एवं तीव्र गति से हो रहे वनों के व्यापक विनाश ने जीवन के अस्तित्व पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया है। जीवन की धुरी कहे जाने वाले पर्यावरण को विलासी मानव  >एम.के.सिंह


     


           
          31 मार्च 2008

 

 

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved