संस्करण: 2 मई-2011

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


विपक्ष में भाजपा : कोसे मत कुछ करके दिखाएं

  शक्त विपक्ष लोकतंत्र की मजबूती की निशानी माना जाता है। सरकार की मनमानी पर अंकुश रखने के लिए वह आम जनता के प्रति उतना ही उत्तरदायी होता है जितना के विकास कार्यों के लिए सरकार। लेकिन भाजपा ने ............

 ? विवेकानन्द


क्या हमारे वक्त के नीरो सलाखों के पीछे होंगे ?
गुजरात जनसंहार की जांच की आंच !

  हिटलर द्वारा निर्मित आशवित्झ के यातनाशिविरों के बारे में सुना है ? वही यातनाशिविर जहां ग्यारह लाख से अधिक लोग -जिनका बहुतांश यहुदियों का था - कालकवलित हुए थे। इतिहास इस बात का गवाह है कि वर्ष 1940 से 45 के बीच हुई इन मौतें .....  

? सुभाष गाताड़े


मोदी के जेल जाने के दिन करीब?

  गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी के विरूध्द लगातार जिस तरह के गंभीर आरोप लग रहे हैं उससे ऐसा लगता है कि वह दिन कभी भी आ सकता है जब उन्हें भी राजा और कलमाडी की तरह जेल की हवा खानी पड़े।

? एल.एस.हरदेनिया


म.प्र. में भाजपा का क्लास रूम
आदमखोर बना के दाल खिलाने की कोशिशें

  भोपाल में पिछले दिनों प्रदेश भाजपा के विधायकों और जिला अधयक्षों के प्रशिक्षण की पाठशाला सम्पन्न हुयी जिसे पार्टी के प्रदेश प्रभारी संचार मंत्रालय घोटाले की प्रसिध्दि वाले अनंत कुमार ने सम्बोधित किया। इन दिनों भाजपा की लोकप्रियता का ग्राफ ......

? वीरेंद्र जैन


कर्ज में डूबी मप्र सरकार

    भाजपा शासनकाल में मधयप्रदेश लगातार रसातल में जा रहा है। ख़ासकर आर्थिक स्थिति के मामलों में तो स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। एक ओर सरकारी ख़ज़ाना ख़ाली है,तो दूसरी ओर सरकार गले-गले तक कर्ज़ में डूबी है। उधार विदेशी ऋण लेने में भी इस सरकार ने सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं।

?राजेंद्र जोशी


भस्मासुर न हो प्रस्तावित लोकपाल

 

  भ्रष्टाचार पर प्रभावी नियंत्रण के लिये अन्ना हजारे के सहयोगियों द्वारा तैयार जन लोकपाल बिल को संसद में लाने की मांग को लेकर अन्ना हजारे द्वारा दिल्ली के जन्तर-मन्तर पर किया गया अनशन तो समाप्त हो गया किन्तु इस अनशन को मीडिया की तवज्जो के कारण वह मुकाम हासिल हो गया ..........

? दिव्या शर्मा


मामागिरी की चपेट में आया मध्यप्रदेश

  मामा संबोधान रिश्तों की मिठास का प्रतीक है। मामा के रिश्ते का इतना ज्यादा महत्व है कि इसके बारे में कहा जाता है 'बिन मामा सब सून'। सचमुच जीवन यात्रा में मामा और मामा का गांव एक ऐसा पड़ाव या स्टेशन है जहां जीवन के सुखद क्षणों का एहसास किया जा सकता है।

? राजेंद्र जोशी


करनाल से कोल्हापुर
इस पौरूषीय वातावरण में नौकरी !

  कोल्हापुर, महाराष्ट्र के पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में प्रशिक्षण के दौरान यौन उत्पीड़न की एक बड़ी घटना का पता चला है। प्रशिक्षण पीरियड के दौरान 11प्रशिक्षु महिला कान्स्टेबिलों के गर्भवती हो जाने के बाद मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं तथा ........

? अंजलि सिन्हा


मीडिया में दलित और अल्पसंख्यक :
सवाल सिर्फ नजरिया बदलने का है

  मारे मुख्यधारा की मीडिया में यूं तो मुल्क की 80 फीसद से ज्यादा आबादी की समस्याएं, सुख-दुख हाशिए पर हैं,लेकिन उनमें भी दलित व अल्पसंख्यकों की समस्याओं को और भी कम जगह मिलती है।

? जाहिद खान


प्रश्न : बाल अपराधियों के पुनर्वास का

  माज में आए दिन ऐसी घटनाएं घट रही है जो बच्चों में बढ़ती हिंसा प्रवृत्ति का प्रभाव हैं। इक्कीसवीं शताब्दी के बच्चों का सही ढंग से पालन-पोषण और सही दिशा में विकास न केवल सरकार की चिंता का विषय है बल्कि यह माता-पिताओं की नैतिक जिम्मेदारी भी है।

? डॉ. गीता गुप्त



2 मई -2011

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved