संस्करण: 02मार्च-2009

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT

हिन्दुराष्ट्र में दलित  'स्पंदित' और 'समृध्द' गुजरात में

 सामाजिक न्याय
पिछले दिनों सूबा गुजरात के प्रसार निदेशनालय की तरफ से तैयार किया गया एक विज्ञापन देश के तमाम अख़बारों में छापा। 'वायब्रन्ट' गुजरात  >सुभाष गाताड़े


क्या जवाब है सीबीआई के पास

शुक्र है निठारी कांड का हश्र बाकी मामलों जैसा नहीं हुआ. निठारी के नरपिशाचों को अदालत ने सजा-ए-मौत सुनाकर चार साल से न्याय की आस में टकटकी लगाए बैठे   >नीरज नैयर


सर्वोच्च न्यायालय के हस्तक्षेप से गुजरात के दंगाई
कानून की चपेट मे

गुजरात के दंगों को हुए सात साल बीत चुके हैं। 27 फरवरी, 2002 को साबरमती एक्सप्रेस के एस-4 कोच में आग लगने से 56 निर्दोष मारे गए  >एल.एस.हरदेनिया


स्लमडॉग मिलेनियम को आस्कर गर्व और शर्म एक साथ

आस्कर पुरस्कारों को दुनिया के फिल्म जगत के पुरस्कारों में श्रेष्ठता का दर्जा प्राप्त है। यही कारण है कि 'स्लमडॉग मिलेनियर' को आठ आस्कर पुरस्कार प्राप्त होने पर हमारी  >वीरेंद्र जैन


राजनैतिक शुचिता को कलंकित कर रही हैं
अमर्यादित भाषा

प्रजातांत्रिक शासन प्रणाली में राजनीति का क्षेत्र बड़ा ही पावन माना गया है। इस क्षेत्र को सत्ता की भूख की वजह से कतिपय नेता जिस तरह से कलंकित करने पर उतारू हो गये है, उससे   >राजेंद्र जोशी


छोटे दलों के नेताओं की प्रधान मंत्री पद की अभिलाषा और भारत का लोकतंत्

जबसे इस देश में देवेगौडा इंद्र कुमार गुजराल चंद्रशेखर जैसे नेता प्रधानमंत्री बने हैं तबसे इस देश के नेताओं को एक विचित्र रोग लग गया है. यह रोग है प्रधान मंत्री बन जाने  >ए.के.शर्मा


लंका में आतंक की पराजय  क्या कुछ और लोग
इस से सबक लेंगे

वैसे तो किसी की हार का जशन मानना कोई अच्छी बात नहीं है किंतु श्रीलंका में तमिल उग्रवादियों की पराजय के पश्चात एक बात पर >भवानी शंकर


टीना फैक्टर यानि देयर इज नो अल्टरनेटिव

अभी एक खबर आई थी कि लोकसभा अधयक्ष श्री सोमनाथ चटर्जी ने वर्तमान लोकसभा के सदस्यो के लिए कामना की है कि आप सभी हार जाए और जीत कर दोबारा   >डॉ. सुनील शर्मा


केंद्र सरकार की अनूठी पहल
हर भारतीय नागरिक को मिलेगा पहचान-पत्

दुनिया में अपनी तरह का एक अनूठा किंतु महत्वपूर्ण और सबसे बड़ा प्रोजेक्ट केंद्र सरकार द्वारा योजना आयोग को सौंपा गया है। राष्ट्रीय  >डॉ. गीता गुप्त


''पंचायती राज में महिलाओं का योगदान''
लोकतंत्र की सबसे निचली इकाई पंचायत है और स्थानीय शासन में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। पंचायती राज हमारे देश के लिए कोई नई उपलब्धि नहीं है, भारत में  >स्वाति शर्मा


भारत पुन: विश्व गुरू बन सकता है

भारत कभी अपने ज्ञान और विश्वास के बल पर विश्व का सिरमौर हुआ करता था। यह उस समय संभव हो पाया था जब हमारे पूर्वजों ने ज्ञान और  >डॉ. राजश्री रावत ''राज''



02मार्च2009

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved