संस्करण:  27 दिसम्बर-2010

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


इस्त्राएल से 'विकास फंडा' सीखने के निहितार्थ
क्या अब भाजपाशासित राज्यों में गुप्त हत्याओं का दौर शुरू होगा ?
 


  राजनय के अपने नियम होते हैं। एक दूसरे के मुल्कों में मौजूद दूतावासों तथा वहां कार्यरत राजदूतों से यह न्यूनतम अपेक्षा की जाती है कि वह मुल्क की आन्तरिक राजनीति पर कोई टिप्पणी न करें। यही समझा जाता है कि यह एक तरह से  >सुभाष गाताड़े


कांग्रेस को मजबूत करते भाजपा तथा आरएसएस


 इस समय भाजपा तथा आरएसएस के नेता कांग्रेस को मजबूत करने के लिये जी जान से लगे हुये हैं । यह खबर सुनने में थोड़ी अटपटी जरूर है किंतु सत्य है । अभी चंद दिनों पहले विकीलीक्स ने एक खुलासा किया कि >मोकर्रम खान


छदम राष्ट्रवादी-इन्हें मानवता नहीं वोट का महत्व है

 

  भारत की सभ्यता विश्व की प्राचीनतम सभ्यताओं में से एक है जिसने पूरे विश्व को किसी न किसी रूप में प्रभावित किया है। यहां बसने के लिए लोग अनेकों देशों से आये, जिनकी भाषा, भुशा, भोजन और उपासना पध्दति भिन्न भिन्न थी, लेकिन भारत की माटी की । >डॉ. राजेंद्र कुमार सिंह


शब्दों के अर्थ न बदले मीडिया
 

 

   हाल ही में मीडिया ने कांग्रेस महासचिव श्री दिग्विजय सिंह के हेमंत करकरे संबन्धी बयान को समाचार की तरह जस का तस जनता तक पंहुचाने की बजाय संपादकीय और समाचार विश्लेषण के माध्यम से जनता को भ्रमित करने का जो कार्य किया ह्टीं।>दिव्या शर्मा


कश्मीरी पंडितों की तरह उमाभारती का प्रदेश निकाला

 

  राष्ट्रभक्ति का त्रिपुण्ड लगाये फिरने वाला संघ परिवार देश की गम्भीर से गम्भीर परिस्तिथि में भी सत्ता की राजनीति के सस्ते हथकण्डे अपनाने से बाज नहीं आता। कश्मीर में विदेशी घुसपैठियों और अलगाववादी तत्वों ने अपने मिशन को >वीरेंद्र जैन


कांग्रेस महाअधिवेशन में हुआ सार्थक विमर्श
विपक्षी-धर्म निभाने के लिए विपक्ष कर रहा है टिप्पणिय


 कांग्रेस के बुराड़ी में हुए राष्ट्रीय महाअधिवेशन में राष्ट्र के विभिन्न ज्वलंत मुद्दों पर सार्थक विमर्श हुआ। पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं ने जहां भारत के आर्थिक और सामाजिक परिदृश्य पर चर्चा करते हुए देश के चौतरफा विकास के लिए पार्टी का संकल्प ।>राजेंद्र जोशी


संघ परिवार की दाढ़ी में तिनका

 

 पिछले सात-आठ वर्षों से अस्त-व्यस्त पड़ी उ.प्र. भारतीय जनता पार्टी को पुनर्जीवित करने का जिम्मा अब उन उमा भारती को दिया जा रहा है, जिन्हें लगभग 5 वर्ष पूर्व पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाकर निष्कासित कर दिया गया >एल.एस.हरदेनिया


किसान आंदोलन से उठे सवाल

 

 किसानों ने दो दिनों तक राजधानी को बंधाक बनाए रखा। छात्रों-मरीजों से लेकर आम जनता भी हलाकान हो गईं। ऐसा लगा मानो शासन-प्रशासन नाम का कोई तंत्र ही नहीं है। अंतत: सरकार को किसानों के आगे घुटने टेकना पड़े>महेश बाग़ी


युवा शक्ति और सोनिया गांधी का आह्वान
 

 

 काँग्रेस पार्टी के 83वें अधिवेशन को सम्बोधित करते हुए पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गाँधी ने कहा है कि भले ही काँग्रेस शानदार पुरानी पार्टी हो, लेकिन उसे उम्र और अनुभव के अलावा युवा-शक्ति और जीवन के उत्साह से भरी पार्टी>सुनील अमर


तनाव झेलने में बराबर के अंक नहीं मिले अभी भी !

 

 कुछ अस्पतालों में आये तनावों के मामलों का पिछले दिनों अध्ययन किया गया तथा विशेषज्ञों की राय के हवाले से खबर आयी थी कि अब पुरुष भी तनाव के कारण थायराइड के शिकार हो रहे हैं। इसे चेतावनी की घण्टी बताया गया है।>अंजलि सिन्हा


देश में वापस कैसे आए काला धन

  कोई केन्द्रीय सरकार लगभग पच्चीस साल बाद एक बार फिर यह फैसला कर रही है कि भारत में काला धन और इसमें तेजी से बढ़तरी क्यों हो रही है का गहन अध्ययन कराया जाए। हाल ही में वित्त मंत्री ने देश के चार प्रमुख संस्थानों ।>शब्बीर कादरी



27 दिसम्बर-2010 

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved