संस्करण: 25 अगस्त- 2014

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


हिन्दू राष्ट्र की सुरसरी के पीछे की राजनीति

     ह सच है कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के लक्ष्यों में भारत को एक हिन्दू राष्ट्र बनाने का लक्ष्य उसकी स्थापना के समय से ही रहा है, और यही कारण है कि देश के, भाजपा को छोड़ कर, सभी राजनीतिक दल उनके विचारों से असहमत रहे हैं। इसी कारण से दक्षिणपंथी और क्षेत्रीय दलों के बीच भी भाजपा अछूत रही है और उसका साथ किसी विशेष मजबूरी या सत्ता के लालच में ही अवसरवादी दलों या व्यक्तियों द्वारा लिया या दिया गया है।     

? वीरेन्द्र जैन


भागवत जी देश को बांटने वाली बातें कहना बंद करें

        राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डा. मोहन भागवत ने फिर इस बात को दोहराया है कि हमारा देश एक हिन्दू राष्ट्र है और हिन्दुत्व हमारी पहचान है। कुछ समय पूर्व वे यह भी कह चुके हैं कि यदि हिन्दू एक हो जाते हैं और हिन्दुओं की एकता मजबूत हो जाती है तो हमारे देश का कोई भी बाल बांका नहीं कर सकता,चाहे वह कितना भी शक्तिशाली क्यों न हो। इस संदर्भ में डा.भागवत से कुछ प्रश्न पूछना आवश्यक हैं। सबसे पहले इनसे यह जानना आवश्यक है कि वे कौन से आधार हैं जिनसे वह यह दावा करते हैं कि भारत एक हिन्दू राष्ट्र है? 

?

एल.एस.हरदेनिया


प्राचीरों पर चढ़े, दिल से उतरे

     15 अगस्त को नरेंद्र मोदी की वह ख्वाहिश पूरी हो गई, जो पिछले करीब एक साल या यूं कहें कि जबसे मीडिया ने उन्हें बीजेपी की ओर से बतौर पीएम कैंडीडेट प्रचारित करना शुरू किया था,हिलोरें ले रही थी। निर्विवाद रूप से मोदी ने इसके लिए अथक मेहनत की। अपने भाषणों में अच्छा-बुरा,सच-झूठ का ऐसा मिश्रण तैयार किया कि जनता चकरघिन्नी हो गई।

 ? विवेकानंद


इस सांप्रदायिक गठजोड़ पर क्यों नहीं होती कार्रवाई

      त्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में जुलाई 2014 में हई सांप्रदायिक हिंसा पर आई रिपोर्ट ने भाजपा सांसद राघव लखनपाल व प्रशासनिक अमले को जिम्मेवार ठहराया तो वहीं भाजपा ने इसे राजनीति से प्रेरित रिपोर्ट करार दिया। इस रिपोर्ट के आने के बाद लाल किले की प्राचीर से सांप्रदायिकता पर जीरो टॉलरेंस की बात करने वाले प्रधानमंत्री से अपनी पार्टी की स्थिति स्पष्ट करने की मांग की जा रही है।

? राजीव यादव


यौन हिंसा का साम्प्रदायिकरण

और न्याय का सवाल

            मेठी के कथित तांत्रिक की हवस की षिकार एक नाबालिग बच्ची से पुलिस अधिक्षक द्वारा अपने साथ हुए बलात्कार के मामले में आरोपियों का नाम पूछने पर बच्ची जब मौनी बाबा का नाम लेती है तो उसे डांट कर भगाते हुए यह भी धमकी दी जाती है कि वह अगर मौनी बाबा का नाम लेगी तो उसके पूरे परिवार को वे झूठे मामले में फंसा देंगे। पीड़िता को यही बातें उसकी मेडिकल जांच करने वाले डॉक्टर से भी सुनने को मिलती है और न्यायिक मजिस्ट्रेट से भी। अंत में थक-हार कर पीड़िता और उसके पूरे परिवार को अपना घर छोड़ कर लखनऊ में अपने किसी परिचित के घर शरण लेनी पड़ती है।

 ?  गुफरन सिद्दीकी


आई.एस. और भारतीय मुसलमान

         दुनिया के सब से प्राचीन सभ्यताओं में से एक ईराक आज अपने अस्तित्व के लिए जूझ रहा है, पुराने समय में मेसोपोटामिया सभ्यता के नाम से विख्यात यह मुल्क शिक्षा, व्यापार, तकनीक, सामाजिक विकास, संस्कृति को लेकर काफी समृध्द रहा है लेकिन पिछली सदी के आखिरी दशक में इस प्राचीन सभ्यता को आधुनिक महाशक्तियों की नजर लग गयी,जिसकी वजह बना ''ईराक धरती में दफन तेल''।

? जावेद अनीस


क्यों नहीं चाहतीं मायावती सपा से समझौता

      स समय जबकि देश में एक से बढ़कर एक आश्चर्यजनक राजनीतिक समझौते हो रहे हैं, बसपा प्रमुख मायावती ने समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने के सुझाव को बहुत तल्ख़ी के साथ खारिज कर दिया है। सभी को इसी की उम्मीद थी। वर्ष 1995में उत्तर प्रदेश में हुए राज्य अतिथि गृह कान्ड के बाद से समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह के प्रति उपजी अपनी घृणा पर सुश्री मायावती कायम हैं।

?  सुनील अमर


पाकिस्तान का दोहरा चेहरा

     खिरकार भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिवों के बीच होने वाली वार्ता भारत ने रद्द कर दी। इसकी पृष्ठभूमि में वार्ता से ठीक पहले भारत स्थित पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल वासित द्वारा कश्मीरी अलगाववादी नेताओं से बातचीत तो है ही,पाक की नापाक हरकतों का सीमा पर जारी रहना भी है। बावजूद वासित ने हठधर्मिता और सीनाजोरी का आचरण बरतते हुए एक बार फिर अलगाववादियों से बात की और पत्रकार वार्ता आयोजित कर शांति वार्ता के लिए दोषी भारत को ही ठहराया है।

? प्रमोद भार्गव


समान नागरिक संहिता और कश्मीर में धारा 370

        देश में अनेक एैसे मामले हैं जिसका उल्लेख करते ही विवाद पैदा हो जाता है, राजनीति का पारा बढ़ जाता है। उनमें से एक विवादित विषय कश्मीर में धारा 370हटाने का है। भाजपा ने लोकसभा चुनाव से पूर्व जारी चुनावी घोषणा पत्र में वायदा किया है। वह सभी पक्षों से वार्ता कर धारा 370 को समाप्त करने का प्रयास किया जायेगा। 

? विजय कुमार जैन


योजना आयोग के औचित्य का प्र्न

      योजना आयोग के पुनर्गठन या उसमें व्यापक बदलाव की संभावनाओं पर विराम लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अपने भाषण में पंचवर्षीय योजना की रूपरेखा तैयार करने वाली 64 साल पुरानी इस संस्था को खत्म करने की घोषणा कर दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि योजना आयोग का गठन तात्कालिक आवश्यकताओं को देखकर किया गया था। उसने देश के विकास में अपना योगदान तो दिया लेकिन अब स्थिति बदल गई है। बदलते वैश्विक व घरेलू आर्थिक परिदश्य के मद्देनजर मोदी सरकार जल्द ही नई संस्था बनाएगी जो मौजूदा आर्थिक चुनौतियों से निपटने, युवाओं की क्षमता के बेहतर उपयोग और संघीय ढांचे को मजबूत बनाने का काम करेगी।

? शशिमान शुक्ला


वित्तीय समावेशन: बड़ी कठिन डगर ?

        बीसी यानि बैंकिग कारस्पोंडेंस कोई नया शब्द बल्कि पिछले एक दशक से यह कार्यकर्ता बैंकों के गलियारों में घूमता नजर आ रहा है। लेकिन अभी तक तमाम बैंके इस प्रणाली को असफल करार देती आई हैं। शायद बैंकों के एमडी को उनके अधिकारियों और कर्मचारियों ने इसे बेहद निकम्मा और अनुपयोगी कार्यकर्ता परिभाषित कर बतलाया होगा। क्योंकि इसके आने से बैंक कर्मचारियों और आम आदमी के बीच एक दीवार सी बन गई थी और यह दीवार बैंक कर्मचारियों की उपरी कमाई पर चोट करने वाली थी।                  

? डॉ सुनील शर्मा


परमाणु ऊर्जा कितनी निरापद ?

      कुडानकुलम परमाणु बिजली संयंत्र के पहले रिएक्टर से उत्पादन प्रारंभ हो चुका है। भारत-रूस की इस संयुक्त परियोजना को वास्तव में पिछले साल दिसंबर में ही शुरू हो जाना चाहिए था लेकिन जनांदोलन की वजह से इसमें देरी हुई। सुप्रीम कोर्ट ने कुडानकुलम परमाणु संयंत्र चालू होने के बाद इससे निकलने वाले कचरे के निस्तारण के बारे में सरकार से जानकारी मांगी थी। शीर्ष अदालत ने कुडानकुलम की सुरक्षा के साथ ही स्वास्थ्य एवं पर्यावरण को भी महत्वपूर्ण बताया है।

? शैलेन्द्र चौहान


निजी शिक्षा संस्थानों  में लागू हो आर.टी.आई.!

        र्ष 2005 से लागू सूचना के अधिकार अर्थात आर.टी.आई. कानून ने सरकारी कामकाज में पारदर्शिता के नये दरवाजे खोल दिये। आम आदमी मात्र 10रूपये शुल्क देकर सरकारी दफ्तर की नस्तियों की प्रतियां हासिल कर सकता है। इस कानून ने आम आदमी को विधायकों और सांसदों के आंशिक अधिकार दे दिये। इसी सूचना के अधिकार के कारण अनेक सरकारी अफसरों और मंत्रियों को भी जेल की हवा खानी पड़ी। इसी अधिकार के कारण देश भर में हलचल मचा देने वाला 2जी घोटाला सामने आया।                     

? ओ.पी.शर्मा


रोगों पर केंद्रित फिल्में

      हले कहा जाता था कि फिल्में रोग की तरह होती हैं, एक बार यदि इसका चस्का लग जाए, तो फिर यह छूटता नहीं है। यदि इसे दूसरे नजरिए से देखें, तो रोग से फिल्मों का बहुत ही नाजुक रिश्ता है। कई हिंदी फिल्में रोग पर आधारित है, जो हिट भी रही। फिल्मों का यह रोग अब धारावाहिकों में भी देखने को मिल रहा है। धारावाहिक युध्द में अमिताभ बच्चन हंगरीस्टन रोग से ग्रस्त हैं। इसके पहले उन्होंने फिल्म पा में उन्होंने प्रोजेरियाना रोग से ग्रस्त एक 15 साल के किशोर की भूमिका की थी।

? डॉ. महेश परिमल


  25 अगस्त- 2014

Designed by-Altius Infotech
Copyright 2007 Altius Infotech All Rights Reserved