संस्करण: 24 जनवरी -2011

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


रामनाम की लूट मची है लूट सके तो लूट

राष्ट्रीय स्वयंसेवा संघ

  क्या कोई ट्रस्ट या संस्था अस्तित्व में आने से पहले ही सरकार उसे राजधानी का करोड़ों रूपए कीमत का भूखण्ड आवण्टित कर सकती है ? >सुभाष गाताडे


जन्नत में भारी भीड़


  क्या इंटर सर्विसेस इंटेलीजेंस (आईएसआई) को पंजाब के गवर्नर सलमान तासीर की हत्या की जानकारी पहले से ही थी? वाकई में आईएसआई के पास गवर्नर के सुरक्षा गार्डों का पूरा प्रोफाइल था? >सईद नकवी


ईश्वर का एक लहराता प्रभाव

 

  पूरी दुनिया में धर्म को लेकर और इसमें एक संघर्ष चल रहा है। कभी-कभी इसका परिणाम सिर्फ हानिकारक शब्द होते हैं। कई बार यह हिंसा और चौंकानेवाले चरमपंथी वारदात के रूप में फूटता है। >टोनी ब्लेयर और गाजी बिन मुहम्मद


शांत कश्मीर को फिर छेड़ दिया भाजपा ने

 

  श्मीर में जब आतंकवाद अंतिम साँसें ले रहा हो, उसे राज्य में कहीं से भी आश्रय न मिल रहा हो, ऐसे में भाजपा ने झंडा फहराने का नया शिगूफा छोड़कर आतंकवाद की अग्नि को एक बार फिर भड़का दिया है। >डॉ महेश परिमल


केन्द्रीय विषय के रूप में भ्रष्टाचार और व्यवस्था

 

   त दिनों संसद को लम्बे समय तक स्थगन झेलना पड़ा। इस स्थगन के मूल में भ्रष्टाचार की कुछ बड़ी बड़ी घटनाओं का एक साथ उद्धाटन होना है। >वीरेन्द्र जैन


ऐसी 'बेहतरी' किस काम की ?

  केन्द्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया पिछले दिनों राजधानी में आए। एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तो बेहतर हैं, लेकिन उनके मंत्री ठीक नहीं हैं। >महेश बागी


सत्ता के भूखे दलों की बगुला-भक्ति राजनीति के घाट पर जन-भावनाओं का हो रहा है शिकार

 

  जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में नैतिकता आवश्यक ही नहीं अनिवार्य भी है। वह क्षेत्र चाहे सामाजिक सांस्कृतिक, व्यावसायिक या राजनैतिक ही क्यों न हो सभी में यदि नैतिकता है >राजेन्द्र जोशी


उत्तरप्रदेश में बलात्कारी विधायकों का मजम

 

  बिहार में एक महिला द्वारा कथित रूप से उसका शारीरिक शोषण करने वाले भाजपा विधायक की हत्या और उत्तरप्रदेश के बांदा जिले में एक दलित लड़की के साथ बसपा विधायक द्वारा किए गए कथित बलात्कार की >एल. एस. हरदेनिया


राष्ट्रीकृत बैंकों में भेदभाव :

अपने इर्दगिर्द नस्लवाद ?

 

  उत्तरप्रदेश से आए उदयकुमार ने -जो कुछ समय पहले प्रवासी मजदूर के तौर पर जालन्धर पहुंचे हैं -यह सपने में नहीं सोचा था कि एक राष्ट्रीकृत बैंक (यूनियन बैंक) में उनके अपने खाते में पैसा जमा करने के लिए >अंजलि सिन्हा


जब गरीब हैं तो अनाज क्यों नहीं ?

 

  पिछले आमचुनावी घोषणा-पत्र में कांग्रेस ने सभी गरीबों को खाद्य सुरक्षा मुहैया कराने की गारंटी दी थी। इस वायदे पर अमल के लिए सोनिया गांधी की अध्यक्षता में काम कर रही राष्ट्रीय सलाहकार परिषद् >प्रमोद भार्गव


बच्चों में बढ़ती क्रोध और आत्महत्या की प्रवृत्ति

 

  दिल्ली में कक्षा दो में पढ़ने वाले आठ वर्षीय एक बालक ने गत सप्ताह माँ द्वारा खेलने से मना किये जाने पर फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। >सुनील अमर


विज्ञान के विकास के लिए जरूरी है-वैज्ञानिक समाज 

 

  पिछले दिनों चैन्नई में संपन्न भारतीय विज्ञान कांग्रेस का 98वां अधिवेशन संपन्न हुआ। इस अधिवेशन में मुख्य मुद्दा रहा कि भारतीय विश्वविद्यालयों और वैज्ञानिक संस्थानों में विज्ञान शिक्षा और शोध की >डॉ सुनील शर्मा


26 जनवरी पर विशेष

भारतीय लोकतंत्र : दशा और दिशा

 

  भारत विश्व का सबसे बड़ा प्रजातांत्रिक देश है। विश्व के प्राय: सभी प्रगतिशील देशों ने जनतांत्रिक पध्दति को ही अपनाया है। लेकिन आधुनिक लोकतंत्र कम आबादी वाले देशों में सर्वाधिक सफल है। >डॉ. गीता गुप्त


24 जनवर-2011 

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved