संस्करण: 21 जून-2010  

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


 

हिन्दुवादी आतंकवाद का उदय

राजस्थान में हाल ही में हुई गिरफ्तारियों से भारत में अब तक हुए सबसे अधिक अपारदर्शी और विवादास्पद आतंकवादी हमलों को सुलझाने में प्रगति होने के आसार हैं। साथ ही इससे बिल्कुल कम जानकारी वाले संकट>प्रवीण स्वामी


 

निशाने पर विशिष्ट समुदाय
क्या ऐसी रणनीति आतंकवाद या अपराध
को रोकने में कामयाब होती है ?


पिछले दिनों ख़बर आयी कि ब्रिटेन के आतंकवाद विरोधी प्राधिकरण की तरफ से बर्मिंगहैम के दो मुस्लिम बहुल इलाकों - वॉशवुड हीथ और स्पार्कब्रुक - में 150 से अधिक संख्या में निगरानी के नाम पर सिक्रेट कैमरे जगह जगह>सुभाष गाताड़े
 


 

भोपाल गैस त्रासदी :
समरथ को नहीं दोष गुसाई

 

गोस्वामी तुलसी दास ने कहा है समरथ को नहिं दोष गुसाईं यानि ताकतवर को दोषी नहीं ठहराया जा सकता। उनकी यह बात भोपाल गैस कांड के दोषियों पर बिलकुल सटीक बैठती है। यूनियन कार्बाइड के>मोकर्रम खान
 


 

भाजपा और जेडीयू
एक दूसरे को टंगड़ी मारने का तमाशा

 भाजपा ने अपनी 'ग्रीष्म कालीन' कार्यकारिणी का आयोजन पटना में करते हुये यह सोचा भी नहीं होगा कि उनके गठबन्धन का इतने लम्बे समय का साथी अचानक उसके साथ ऐसा व्यवहार करेगा। वे राष्ट्र्ति>वीरेंद्र जैन


लुप्त हो गया राजनीति में सौहार्द

    राजनीति एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें विभिन्न राजनैतिक दलों को अपनी विचारधाराओं के अनुरूप कार्य करते हुए लोकतंत्र की मर्यादा और शुचिता के प्रति समर्पित भाव से अपनी भूमिका का निर्वहन करना चाहिए। किंतु>राजेंद्र जोशी
 


 

भारत का पेट भरना
मुश्किल काम हो रहा है


स वक्त जब इस वित्तीय वर्ष में भारत की अर्थव्यवस्था 8.5 फीसदी पर पहुंचने को तैयार है, और साथ ही इसके अन्न भंडार लबालब भर रहे हैं और भविष्य के लिए संचित खाद्य खुले में सड़ रहे हैं, भारत को अपने लाखों भूखे लोगों का> देवेन्द्र शर्मा


 

रिश्ता अब बोझ नहीं

केन्द्र सरकार ने हिंदू विवाह अधिनियम 1955 में संशोधन कर तलाक़ प्रक्रिया को सरल बना दिया है। सरकार के इस फैसले को उसका प्रगतिशील क़दम माना जा रहा है। नए संशोधन के अनुसार यदि अदालत को>महेश बाग़ी


 

हमेशा से अमेरिका परस्त रहा है संघ परिवार

       स समय देश में अमरीका का विरोध करने की प्रतियोगिता चल रही है। एन्डरसन की रिहाई को लेकर सभी राजनैतिक पार्टियां कांग्रेस के पर जबरदस्त हमला कर रही हैं। सर्वाधिक आश्चर्य की बात यह है भारतीय जनता पार्टी भी>एल.एस.हरदेनिया


 

रे मान सून आजा

  कालिदास के जमाने में भले ही आषाढ प्रथम दिवसे पर मेघ आ जाते रहे हों आज तो बस हम प्रार्थना ही करते रह जाते है कि रे मान तू सून आ जा। जल्दी से आजा और देर न कर। भीषण गर्मी के थपेड़ों से>डॉ. देव प्रकाश खन्ना


 

 शिक्षा व्यवस्था में परिवर्तन की जरूरत
  र्तमान भारतीय शिक्षा प्रणाली को लॉर्ड मैकाले की देन कहा जाता है और यह मैकाले चाहता था कि इस शिक्षा से दक्ष भारतीय जन केवल रूप रंग से ही भारतीय होंगे, परंतु मनमस्तिष्क, चिंतन और रहन सहन के स्तर से पूर्णत:>डॉ. सुनील शर्मा


21जून-2010

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved