संस्करण: 20अक्टूबर-2008

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT

हम कानून के बारे में कब और क्या बात करते हैं

अहमदाबाद और दिल्ली में हुए आतंकवादी हमलों ने आतंक और उससे निपटने में राज्य की अक्षमता के मामले में बहस को फिर से जिंदा कर दिया है। भारतीय जनता पार्टी की स्थिति इस बात पर दृढ़ है कि आतंक का सामना करने और उससे लड़ने के लिए पोटा > कपिल सिब्बल


कांग्रेस शासन काल में मध्यप्रदेश को मिले राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सम्मान

भाजपा की सत्ता में प्रदेश के गौरव का हुआ अवमूल्यन

ध्यप्रदेश को कांग्रेस के एक दशक के कार्यकाल के दौरान राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जितने सम्मान और पुरस्कार मिले उतने देश के किसी अन्य राज्य को हासिल नहीं हो पाये। छ: सात वर्ष पूर्व संयुक्त राष्ट्र विकास >अजय सिंह 'राहुल'


कैथोलिक, कर्नाटक और भाजपा

फिलहाल मेरे गृहराज्य कर्नाटक में जो हो रहा है, वह काफी बेचैन करने वाला है। पिछली सदी के आखिरी दशक के पूर्वाध्द तक ऐसा कुछ सोचा भी नहीं जा सकता था। एट्टीज और नाइंटीज में स्कूल-कॉलेज  >डी.पी. सतीश


  

अबू सलेम के जीवनरक्षक आडवाणी

भारतीय जनता पार्टी विधानसभा और आगामी लोकसभा चुनाव में आतंकवाद को चुनावी मुद्दा बनाना चाहती है। भाजपा देश में आतंकवादियों को कड़ी सजा देने और पोटा जैसे कानून बनाने की मांग पर लगातार जोर देती है। इसके साथ ही संसद पर हमला करने वाले सर्वोच्च न्यायालय >विनय दीक्षित


आरक्षित सीटें अनारक्षित श्रेणी में न बदलने का संकल्प

वादें हैं वादों का क्या ?

शिक्षा एवम रोजगार के क्षेत्र में आरक्षण का तर्जे अमल लम्बे समय से बहस के केन्द्र में रहा है। यह बात कई सारी रिपोर्टों का हिस्सा भी बन चुकी है कि किस तरह सदियों से वंचित रखे गये इन तबकों के हक में >सुभाष गाताड़े


धर्मस्थलों के हादसे

गत दिनों राजस्थान में जोधपुर के मेहरानगढदुर्ग में स्थित चामुण्डा मन्दिर की ढलान पर घटित हादसे में 225 से अधिक लोग मारे गये। ये लोग मन्दिर के द्वार खुलने पर दूसरे की तुलना में पहले दर्शन कर लेने > वीरेन्द्र जैन


राजनीति में लिप्त होती नौकरशाही

प्रजातांत्रिक शासन प्रणाली में नौकरशाही कितना भी दंग भरे कि वह राजनैतिक दबावों के एकदम विपरीत है। लोकतंत्र में केन्द्र और राज्यों में विभिन्न दलों की सत्ताओं का काबिज होना स्वाभाविक है। ये सत्ताऐं एक निश्चित अवधि, अर्थात पांच साल की अवधि के लिए अस्तित्व में रहती हैं।   >राजेन्द्र जोशी


बुरहानपुर दंगा

वोटों के ध्रुवीकरण का एक और प्रयास

अमरनाथ मामले को लेकर संघ परिवार के आव्हान पर हुए भारत बंद के दौरान इंदौर में भड़की साम्प्रदायिक हिंसा के बाद इंदौर संभाग के ही एक जिले बुरहानपुर में बड़े पैमाने पर साम्प्रदायिक हिंसा ने गंभीर रूप ले लिया। >एल.एस.हरदेनिया


संदर्भ:-कूनो पालपुर में वनकर्मी एवं वनवासियों में टकराव

सिंह बनाम आदिवासी संघर्ष

शिवपुरी और श्योपुर मार्ग पर बियावान जंगल हैं। जिसे कूनों पालपुर अभ्यारण्य के नाम से अधिसूचित करीब ढाई  दशक पहले किया गया था। कूनों नदी इस अभ्यारण्य के वन्य प्राणी व वनवासियों की जीवन रेखा रही है। गुजरात के गिर अभ्यारण्य के एशियाई सिंह बसाने >प्रमोद भार्गव


शिक्षा पध्दति के खिलाफ बगावती बिगुल ?

पिछले महीने ही स्वर कोकिला लता मंगेशकर जी का जन्म दिन था। इस दौरान रेडियो-टीवी पर उनके कई गीते बजाए गए। ऐसे ही एक कार्यक्रम में बताया गया कि लता जी अपने जीवन में केवल एक दिन ही स्कूल > डॉ. महेश परिमल


20अक्टूबर2008

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved