संस्करण: 18 जनवरी-2010

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


 

सवालों के घेरे में सुरक्षा कर
 

बर है कि शिवराज सरकार सुरक्षा कर लगाने पर विचार कर रही है। ऐसा माना जा रहा है कि इस कर से होने वाली आय से सरकार पुलिस बल में नई भर्ती करेगी। यदि ऐसा होता है तो यह प्रदेश के नागरिकों के>महेश बाग़ी


 

क्या अमर सिंह मुलायम सिंह
को ब्लेकमेल कर रहे हैं?


मर सिंह के इस्तीफे को स्तीफा देना नहीं कहा जा सकता अपितु यह कहा जा सकता है कि अमर सिंह ने इस्तीफा दे मारा है और प्रतीक्षा कर रहे हैं कि इस तीर से आहत शिकार तड़फता हुआ उनके कदमों में आ गिरे।>वीरेंद्र जैन


 

विडम्बनाओं से घिरा राष्ट्रीय खेल-हॉकी
खिलाड़ियों के लिए है राष्ट्रहित सर्वोपरि

 

हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल है। हाल ही में इस खेल में भड़क उठे विवाद से यह जाहिर होता है कि आज यह राष्ट्रीय खेल विडंबनाओं से गुजर रहा है। खेल गतिविधियों के संचालन के लिए जिम्मेदार संगठनों और प्रायोजकों का>राजेंद्र जोशी


 

संवैधानिक एवं चुनाव सुधार जरूरी हैं

संविधान को लागू हुए 60 वर्ष बीत चुके हैं। इस बीच अनेक अवसरो पर यह अनुभव किया गया है कि कई मामलों में संविधान के प्रावधानों का इस हद तक गलत उपयोग हुआ है, जिससे प्रजातंत्र व्यवस्था की जड़े कमजोर हुई >एल.एस.हरदेनिया


 

पीड़ित को ही सज़ा देने की मानसिकता

हिलाओं के लिए हमारे समाज में सुरक्षा के लिए जो उपाय किए जाते हैं उसमें आम तौर पर उन्हीं के लिए पाबन्दियां और जकड़न को फिर से और मजबूत बना दिया जाता है। इसका ताज़ा उदाहरण हाल में भोपाल के>राजेंद्र जोशी


 

अब गांव-गांव पहुंचेंगे डॉक्टर

ग्रामीण इलाकों में चिकित्सा सेवा को बेहतर बनाने और डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए, भारतीय चिकित्सा परिषद् ने सरकार को अभी हाल ही में जो प्रस्ताव भेजें हैं, उनका स्वागत किया जाना चाहिए।>डॉ. जाहिद खान


 

भ्रष्ट संपत्ति को जब्त करने की कवायद

रकारी अधिकारी व कर्मचारियों द्वारा भ्रष्ट आचरण से अर्जित की संपत्ति को जब्त करने की कवायद तेज हो रही है। हाल ही में सीबीआई ने केन्द्रीय विधि और कार्मिक मंत्रालय को सिफारिश की है कि यदि सरकार >प्रमोद भार्गव


 

ढांचे को बदले बिना संभव नहीं सबको शिक्षा, समान शिक्षा

जादी के छह दशक बीत जाने के बाद भी प्रदेश में शिक्षा की हालत बदहाल है। भारतीय संविधान द्वारा बच्चों को नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा के अधिकार के बावजूद प्रदेश के सभी बच्चों को यह बुनियादी हक नहीं  >राकेश मालवीय


 

'' इडियट्स '' को पाठ पढ़ाती
'थ्री इडियट्स'

चपन में भारतेंदु हरिश्चंद्र का नाटक पढ़ा था ''अंधोर नगरी चौपट राजा''। समाज में व्याप्त अव्यवस्थाओं पर तीखी चोट करने वाला यह नाटक करीब सौ वर्ष पहले लिखा गया था। आज से सौ वर्ष पहले की >डॉ. महेश परिमल


18 जनवरी -2010

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved