संस्करण: 11 अगस्त- 2014

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


नटवर की अनर्गल लीला

     पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के 2004  में प्रधानमंत्री पद को छोड़ने के पीछे जिन कारणों का खुलासा किया है, हो सकता है कि वे सब अक्षरश: सत्य हों। नटवर सिंह गांधी परिवार के काफी करीबी रहे हैं और यूपीए सरकार में मंत्री भी रहे हैं, इसलिए उनकी बातों को एक बार मान लेने में कोई हर्ज नहीं है।        

? विवेकानंद


सांप्रदायिक हिंसा के 'अर्थशास्त्र' पर बहस क्यों न हो

        त्तर प्रदेश सरकार ने मुजफरनगर सांप्रदायिक हिंसा पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के समक्ष कहा है कि मुजफरनगर को इसलिए चुना गया क्योंकि वहां के मुसलमान गरीब वर्ग के थे और ग्रामीण पृष्ठभूमि के थे। सांप्रदायिक हिंसा के इस 'अर्थशास्त्र'को विचित्र सिध्दांत कहते हुए,चिंतन-मनन न करके सांप्रदायिक घटनाओं को रोकने की नसीहत देते हुए कहा गया कि विफल सरकार इन घटनाओं को रोकने से ज्यादा इनकी विवेचना और विष्लेशण कर रही है। बेशक,2013 में पूरे देश में सांप्रदायिक हिंसा की 823 वारदातों में अकेले उत्तर प्रदेश में 247 वारदातें हुई।

?

राजीव यादव


'मुख्यमंत्री कौन' की बहस में उलझी भाजपा

     श्चिमी उत्तर प्रदेश में दो समुदायों में आए दिन हो रही जबरजस्त सांप्रदायिक झड़पों और जानलेवा संघर्षों के बीच, भाजपा की उत्तर प्रदेश इकाई में इन दिनों इस बात पर खुली बहस चल रही है कि प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा?इस बहस में पहले से चल रहे नामों में एक नाम और बढ़ाते हुए केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने अपने पुत्र वरुण गांधी का नाम भी हाल ही में जोड़ दिया।

 ? रीना मिश्रा


एक हत्या की पड़ताल के बहाने

      त्तर प्रदेश में जब एक और हत्या राष्ट्रीय खबर बनी और उसे तुरंत सुलझा भी लिया गया तो उसमें एक उलझाव यह पैदा हो गया कि जाँच से सम्बन्धित एक अधिकारी द्वारा आरोपी का माथा चूमने के फोटो प्रकाशित हो गये। इससे पूर्व इसी प्रकरण से सम्बन्धित खबर आयी थी कि आरोपी के पिता ने अपने पुत्र को बचाने के लिए पाँच करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की। इसी दौरान उत्तरप्रदेश सरकार की निन्दा का ठेका लिये हुए न्यूज एजेंसियों को यह भी याद आ गया कि पिछले दिनों प्रदेश सरकार के पिता मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि बच्चों से गलतियां हो जाती हैं।

? वीरेन्द्र जैन


भागवत जी, क्या अकेले हिंदुओं की एकता से देश की रक्षा की जा सकती है?

            राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मध्यप्रदेश के प्रति विशेष ध्यान दे रहा है। अभी कुछ दिन पहले मध्यप्रदेश के धार जिले के पास राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की एक बैठक हुई थी। उसके बाद फिर 31 जुलाई 2014 से भोपाल में चार दिन तक बैठक चली। इस बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक के अलावा संगठन के अनेक पदाधिकारियों ने भाग लिया। बैठक के पहले, समाचारपत्रों ने यह अंदाज लगाया था कि चार दिवसीय बैठक में केन्द्र की सरकार के लिए एजेण्डा तैयार किया जायेगा और फिर इस एजेण्डे के अंतर्गत संघ की विचारधारा के अनुसार केन्द्र का शासन चलवाया जायेगा।

 ?  एल.एस.हरदेनिया


पाकिस्तान का वर्तमान, भारत का भविष्य ?

भारतीय इतिहास का 'बत्रा युग'

         "The illiterate of the future will not be the person who cannot read. It will be the person who does not know how to learn."

                - Alvin Toffler

        इतिहास पुरूष की क्या परिभाषा हो सकती है ?

        यही जो इतिहास बनाने में अहम रोल अदा करते हैं। या कुछ अहम मुकाम पर अपने नेतृत्व से, समझदारी से नयी दिशा देते हैं। अभी तक इसी ढंग से हम सीखते समझते आए हैं।

? सुभाष गाताडे


इतिहास में अपनी जड़ें क्यों खोज रहे हैं बगदादी?

      ईएसआईएस के मुखिया और दुनिया भर के मुसलमानों के स्वघोषित खलीफा के रूप में खुद को प्रचारित करने वाले अबू बक्र अल बगदादी द्वारा हाल ही में अपनी जीवनी सार्वजनिक करवाई गई है। उनके साथी द्वारा लिखी गई इस जीवनी में अबू बक्र्र अल बगदादी ने यह रहस्योद्धाटन किया है कि वह पैगंबर हजरत मोहम्मद के कबीले अल-बु-बद्री से आते हैं। ऐसी खबरें हैं कि पूरी दुनिया में इस्लामी खिलाफत लागू करने की लंबी तैयारियों के बीच एक रणनीति के तहत जुलाई 2013 में बहरीनी विचारक तुर्की अल-बिनालिए से बगदादी द्वारा अपनी जीवनी लिखवाई गई, जिसमें दावा किया गया कि बगदादी दर असल इस्लाम के पैगंबर मोहम्मद के वंशज हैं।

?  हरे राम मिश्र


काँवड़ यात्रा : धर्म का अर्थशास्त्र!

     प्रत्येक वर्ष के सावन मास (जुलाई-अगस्त) में होने वाली शिवभक्तों की कॉवड़ यात्रा इन दिनों भारी आकर्षण और चर्चा का विषय बनी हुई है। देश के हिन्दीभाषी राज्यों जैसे दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश आदि से करोड़ों की संख्या में शिवभक्त काँवर लेकर गंगा नदी या उन नदियों का जल काँवर में भरते हैं जो अंतत: गंगा में जाकर मिल जाती हैं और इस प्रकार एकत्र किए गए जल को वे अपने कंधे पर लिए-लिए अपने गृहक्षेत्र तक पैदल जाकर वहाँ के स्थानीय शिव मंदिर पर अर्पित करते हैं।

? सुनील अमर


संकट में जीवनदायिनी

        मोदी सरकार ने गंगा के पुनरोत्थान के लिए करोड़ों की योजना स्वीकृत की है, जिस पर काम भी शुरू हो चुका है। इसके पूर्व सरकार ने यह जानने की ज़हमत नहीं उठाई कि गंगा को प्रदूषणमुक्त करने के लिए अब तक खर्च की गई राशि कहां गई और उससे इस पवित्र नदी को कितना लाभ मिला। माना कि गंगा न सिर्फ एक पवित्र नदी ही नहीं अपितु भारत की पहचान भी है,किंतु सिर्फ इसी नदी पर ध्यान केन्द्रित कर देश की अन्य बड़ी नदियों पर दृष्टिपात क्यों नहीं किया?

? महेश बाग़ी


वयस्क हुए अपराधी किशोर

      हिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने 'किशोर आपराधिक न्याय' ;देखभाल एवं बाल सरंक्षण कानून 2000 के स्थान पर नया कानून 'किशोर न्याय विधेयक-2014' का जो प्रारूप संसद में पेश किया है, उसके मुताबिक अब किशोर अपराधियों की वयस्क होने की उम्र 16 वर्ष से बढाकर 18 कर दी गई है। मसलन अब उन पर वयस्कों पर लगने वाली भारतीय दण्ड प्रक्रिया संहिता की उन धाराओं के तहत मामला दर्ज होगा,जो वयस्क जघन्य अपराधियों पर दर्ज होते हैं। लेकिन मुकदमा चलाने का अंतिम फैसला किशोर न्याय मंडल (जुवेनाईल जर्स्टिस बोर्ड)लेगा। 

? प्रमोद भार्गव


युवा शक्ति ही समाज और देश को नई दिशा देने का सबसे बड़ा औजार है

        मेशा जोश और जुनून से सराबोर रहने वाली युवा पीढ़ी देश का भविष्य होती है। आंखों में उम्मीद के सपने, नयी उड़ान भरता हुआ मन, कुछ कर दिखाने का दमखम और दुनिया को अपनी मुट्ठी में करने का साहस, हरदम कुछ नया कर गुजरने की चाहत, नित नई-नई चुनौतियों का सामना करने तैयार रहना और जो एक बार करने की ठान लें तो लाख मुश्किलें भी उसको बदल न पाएं। शायद आज की युवा पीढ़ी को अपनी इस शक्ति का अंदाजा नहीं है। देश की युवा शक्ति ही समाज और देश को नई दिशा देने का सबसे बड़ा औजार है।                   

? शैलेन्द्र चौहान


मानव को हिंसक बनाता

जलवायु परिवर्तन?

      विश्वप्रसिद्ध विज्ञान पत्रिका नेचर में प्रकाशित एक आलेख के मुताबिक  बढ़ता वैश्विक ताप मानव को हिंसक बना रहा है। कैलीफोर्निया युनिवर्सिटी के शोधकर्ता एडवर्ड माइकल और उनके सहयोगियों द्वारा किए गए अध्ययन में वैश्विक ताप वृद्धि के कारण हो रहे मौसम बदलाव को मानव हिंसा से संबंधित किया गया है। अध्ययन में पाया गया है कि मौसम में तनिक विचलन जैसे सामान्य तापमान या वर्षा में परिवर्तन भी संघर्ष के जोखिम को बढ़ा सकता है।

? डॉ.सुनील शर्मा


15 अगस्त : स्वाधीनता दिवस पर विशेष

भारतीय स्वाधीनता के 67 बरस

        क बार फिर 15 अगस्त यानी भारत की स्वाधीनता का गौरव दिवस हमारे सामने है। स्वाधीनता और स्वतंत्रता के अरसठवें सोपान पर खड़े देश की परिस्थितियों पर ईमानदारीपूर्वक विश्लेषण और चिंतन का समय है यह। एक व्यक्ति 67 बरस की उम्र में तमाम उपलब्धियां हासिल कर जीवन के संध्याकाल में पहुंच जाता है। लेकिन यह स्वाधीन देश इतने वर्षों बाद भी विकसित राष्ट्र नहीं बन पाया। तथापि क्या हममें इतना साहस है कि उन कड़वी सच्चाइयों को स्वीकार कर सकें जो आज हमें पूरी दुनिया में लज्जित कर रही हैं ?                    

? डॉ. गीता गुप्त


  11 अगस्त- 2014

Designed by-Altius Infotech
Copyright 2007 Altius Infotech All Rights Reserved