संस्करण: 10 मई-2010  

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


 

एक डरपोक मुख्यमंत्री

 ध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन दिनों डरे हुए हैं। उन्हें यह डर सता रहा है कि कहीं उमा भारती को भाजपा में शामिल न कर लिया जाए। पिछले दिनों उमा भारती ने संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात>महेश बाग़ी


 

तंत्र पर डगमगाता भरोसा और
उग्रवाद का बढता खतरा


दंतेवाड़ा में सी आर पी एफ के 76 जवानों को निर्ममता पूर्वक मार दिये जाने के बाद और उसके पहले से भी हमारे प्रधान मंत्री कहते आ रहे हैं कि माओवादी या वामपंथी उग्रवाद देश के लिये सबसे बड़ा खतरा है। ये>वीरेंद्र जैन


 

पूर्ववर्ती सत्ताओं को कोसने का नाम ही
क्या बेहतर गवर्नेंस है !

 

प्रजातांत्रिक व्यवस्था में राजनैतिक दल निर्वाचनों में एक दूसरे को पछाड़कर सत्तासीन तो हो जाते हैं, किंतु सत्ता संचालन में आई, कतिपय खामियों और वैचारिक राग-द्वेषों के चलते जब क्रियान्वयनों में असफलताएं हाथ>राजेंद्र जोशी


 

कौन कहता है भाजपा मुस्लिम
विरोधी नहीं है?

 

भी कुछ दिन पहले, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष नितिन गडकरी ने जोरदार शब्दों में यह दावा किया कि उनकी पार्टी मुस्लिम-विरोधी नहीं है। उनके इस दावे के बारे में इतना ही कहना यथेष्ट होगा कि काश यह सच>एल.एस.हरदेनिया


जीतने के लिए सारी दुनिया
मजदूरों के सामने खड़ी चुनौतियों पर एक नज़र


    बीते दिनों मई दिवस मनाया गया। अंर्तराष्ट्रीय मजदूर दिवस के तौर पर दुनिया भर में जुलसों, रैलियों, प्रदर्शनों का आयोजन हुआ; कई स्थानों पर जुझारू मजदूरों एवम पुलिस के बीच संघर्ष भी हुआ। हालांकि इस>सुभाष गाताड़े


 

विधवा के हक के लिये :
महिला आयोग की सिफारिश


राष्ट्रीय महिला आयोग ने वृन्दावन के आश्रमो में रह रही विधवाओं की स्थिति तथा उसमें सुधार के लिये कुछ सुझावों के साथ अपनी रिपोर्ट कोर्ट को सौंप दी है। ज्ञात हो कि सुप्रीम कोर्ट ने महिला आयोग से ब्योरा मांगा था>अंजलि सिन्हा


 

केंद्र के फैसले पर
प्रदेश की हवाई आंकड़ेबाजी


हेश्वर बांध के निर्माण कार्य पर केंद्र के रोक लगाने से मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नाराज हैं। वे इसे केंद्र का गरीब और विकास विरोधी निर्णय बता रहे हैं। इससे रोक हटाने की मांग करते हुए>अंश बाबा


 

शिशु मृत्यु-दर में
मध्यप्रदेश आज भी अव्वल


     लम्बे समय से मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य-सेवाओं की बदहाली की खबरें लगातार अखबारों की सुर्खियों में हैं। कही अस्पतालों और चिकित्सकों की लापरवाही से मासूम बच्चै मौत का शिकार हो रहे हें तो कहीं भूख या कुपोषण>डॉ. गीता गुप्त


 

संदर्भ : नई खाद नीति
सब्सिडी की आड़ में किसानों पर
एक और बड़ा हमला


   मारे मुल्क के हुक्मरानों की नजर में, किसानों और खेती की क्या हैसियत है और उनकी प्राथमिकताओं की फेहरिस्त में वह किस पायदान पर है ? इसका अंदाजा, अभी हाल ही में केन्द्र सरकार द्वारा नई खाद नीति>जाहिद खान


 

सरकारी नीतियॉ किसान हितेषी बनें

मेश भाई किसान है खेती करते है। खेत पर एक भैंस और गाय भी रखते हैं दूध की बिक्री से रोजाना एवं कपड़े वगैरह का खर्च निकल जाता है। लेकिन इस साल वो ऐसा कुछ नहीं कर पाए, अपने लिए और परिवार>डॉ. सुनील शर्मा


 

अब समझ में आया पढ़ाई इतनी महँगी क्यों?


   ईपीएल में होने वाले विवाद का खेल खत्म हो गया हो। पर धन का खेल तो अब शुरू हुआ है। बेशुमार दौलत के नशे में लोग क्या-क्या नहीं कर सकते, यह इससे पता चलता है। अब एक दूसरा ही नाटक शुरू हो गया है।>डॉ. महेश परिमल

10 मई-2010

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved