संस्करण: 07जुलाई-2008

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT

भाजपा शासन में खेती-किसानी की उपेक्षा?

भारतीय जनता पार्टी ने विगत आमचुनाव में मतदाताओं को अपने चुनावी जाल में फासने के लिये अपने घोषणा पत्र में जिस तरह से बढ़ चढ़कर वायदों और प्रलोभनों के दाने फेंके थे वे मतदाताओं की आशा विश्वास और भरोसे के अनुरूपें >अजय सिंह ''राहुल''

      


देश सेवा किसी एक का ठेका नहीं!
सभी का जीवन है अपना देश

'जननि जन्मभूमिस्य, स्वर्गादीप गरीयसी' प्रत्येक व्यक्ति के लिए वह भूमि स्वर्ग के समान है जहाँ उसने जन्म लिया है। अपनी मातृभूमि के प्रति प्रेम, आस्था, श्रध्दा और सेवा भाव प्रदर्शित करने का सबका अपना-अपना, अलग >राजेन्द्र जोशी


करार पर इतने बेकरार क्यों हैं वामपंथी ?
परमाणु करार मुद्दा इन दिनों फिर सुर्खियों में है। वामपंथी दलों ने इस मुद्दे पर समर्थन वापसी की धमकी देकर यूपीए सरकार के भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन इसके लिए अपनी सरकारे >महेश बाग़ी


  

क्या बाबा रामदेव दूसरी उमा भारती बनने जा रहे हैं?
स्सी के दशक में जब दूरदर्शन पर 'तमस' सीरियल का प्रसारण हो रहा था तब उस के प्रारम्भ में एक वाक्य लिखा हुआ आता था और वह था '' जो इतिहास से सबक नहीं लेते वे उसे दुहराने को अभिशप्त होते हैं''। >वीरेन्द्र जैन


संदर्भ : दलितों का तिरूपति मंदिर में प्रवेश। दलितों के स्वागत में मन्दिर
अछूत, दलित और आदिवासियों को मन्दिर में प्रवेश की इजाजत अछूतोद्वार की दिशा में की गई रचनात्मक शुरुआत एक अभिनंदनीय पहल है। सनातनी हिंदुओं द्वारा अपने ही समाज के एक बड़े हिस्से को भिन्न व अस्पृश्य वर्ग बन ा देना हिन्दू धर्म के माथे पर सदियों से >प्रमोद भार्गव

       


बलात्कार का हथियार के रूप में दुरूपयोग पर नियंत्रण की पहलैं
 ज से कुछ वर्ष पहले बिहार की एक अदालत में बलात्कार पीड़ित एक दलित महिला ने बिना किसी हिचकिचाहट के बेबाक उसके साथ हुए इस दानवीय कृत्य का विस्तृत >एल.एस.हरदेनिया


संदर्भ : भागलपुर दंगा पीड़ितों को मुआवजा तो मिला मगर इंसाफ नहीं?
यूपीए सरकार की गुजिश्ता चार साल की उपलब्धियों का यदि हम सतत आंकलन करें तो जो बात हमें खास नजर आती है वह है इन चार सालों में मुल्क का साम्प्रदायिक हिंसा से बचे रहना और किसी भी तरह के साम्प्रदायिक  >जाहिद खान

              


नहीं थमेगी पगार पर तकरार?
 वेतनतन आयोग की रिपोर्ट पर मचे बवाल के बाद सरकार मंथन में जुटी है पर इस बात की उम्मीद कम ही नजर आती है कि बीच का कोई रास्ता निकाल लिया जाएगा. जानकारों के अनुसार सरकार इस मामले को बस कुछ समय के लिए >नीरज नैयर


छोटी जोत है बड़ी उपजाऊ?
भारत में जोतों का आकार बहुत छोटा है। देश के कुल साढ़े बारह करोड़ किसानो में से 61.6 प्रतिशत किसान 0.1हेक्टेयर जोत के मालिक है। 18.7 प्रतिशत किसान 1-2 हेक्टेयर जोत के मालिक है। 12.3 प्रतिशत किसान 2-4 हेक्टेयर के मालिक हैं।  >डॉ. सुनील शर्मा

     


11 जुलाई जनसंख्या दिवस पर विशेष बढ़ती जनसंख्या, घटते संसाधन?
प्रकृति की मेज सीमित अतिथियों के लिये लगी है। जो बिना आमंत्रण आएगा, उसे अवश्य भूखों मरना पड़ेगा''। मालथस के इस कथन के साथ ही विश्व बैंक ने भी भविष्य वाणी की है कि >ज्योति रघुवंशी


दगाबाज हुआ ईश्वर का प्रतिरूप?
श्वर दु:ख से मुक्ति दिलाते हैं, तो डॉक्टर दर्द से। इसीलिए डॉक्टर को ईश्वर का दूसरा रूप कहा जाता है। पीड़ा से कराहता व्यक्ति डॉक्टर में ईश्वर के दर्शन करता है। उसे >डॉ. महेशपरिमल

    


07जुलाई2008

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved