संस्करण: 07सितम्बर-2009

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT

भाजपा के भेदिये

भाजपा के बारे में उसके शिखर के नेताओं में से जसवंत सिन्हा, यशवंत सिंह, सुधीन्द्र कुलकुर्णी, अरूण शौरी, भुवन चन्द्र खण्डूरी, राजनाथ सिंह सूर्य, भैरों सिंह शेखावत, बृजेश मिश्र, आदि के खुलासों > वीरेंद्र जैन


 

क्या आरएसएस भाजपा पर
पूरा नियंत्रण कायम कर पाएगा ?

स समय राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूरी तरह से यह सिध्द करने के लिए प्रयासरत है कि बिना उसकी मर्जी के भाजपा में पत्ता भी नहीं हिल सकता परंतु लगता है कि संघ को इस मामले में अपेक्षित सफलता नहीं मिल पा रही >एल.एस.हरदेनिया


 

ऐतिहासिक फैसले के मुहाने पर बीजेपी
क अनुशासित पार्टी का दावा करने वाली बीजेपी का दर्प आखिरकार चकनाचूर हो गया है। एक के बाद एक जिस तरह से उसके सिपाही बागी होते जा रहे हैं, पार्टी को लोगों के सामने अपना चेहरा भी दिखाना >जाहिद खान


 

यह गर्व नहीं, शर्म का विषय है शिवराज जी
र मामले में दूसरे की नक़ल करने में माहिर शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में दो नए नारे गढ़े हैं- जय मध्यप्रदेश और हम मध्यप्रदेश के। समझ में नहीं आता कि ऐसे नारे देकर वे क्या सिध्द करना चाहते हैं। महाराष्ट्र में >महेश बागी


राजनीति में टूट रही हैं मर्यादाएं
''नैतिकता'' और ''अनुशासन'' का
हो गया सत्यानाश
नैतिकता और अनुशासन की बड़ी-बड़ी बातें करने वाली और जनता के बीच में अपने आदर्श का थोथा दंभ भरने वाली राजनैतिक पार्टियों ने अपने ही हाथों अपनी जो दुर्गत बना ली है वह अब लाख छुपाये छुप