संस्करण: 07 जून-2010  

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT


 

साधक या विनाशक ?
आतंक का 'सनातन' रूप


मालगोंडा पाटील और योगेश नायक, के परिवारजनों को यही पता था कि दोनों किसी आध्यात्मिक संस्था के साथ साधक के तौर पर धर्मप्रचार में संलग्न हैं। उनका अपने घरों से सम्पर्क नाममात्र का ही था। मगर कहीं विस्फोट>सुभाष गाताड़े


 

मध्य प्रदेश भाजपा नेतृत्व
का उपनिवेश है


पिछले दिनों भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी का अधिवेशन मध्य प्रदेश में हुआ था, और इसके लिये प्रदेश की आर्थिक राजधानी का चुनाव किया गया था। कार्यकारिणी की जिम्मेवारी शिवराज मंत्रिमण्डल के मन्त्री कैलाश>वीरेंद्र जैन
 


 

झारखंड ने सिध्द किया कि भाजपा घोर अवसरवादी पार्टी है

 

झारखंड में हुए ड्रामे ने पुन: यह सिध्द कर दिया है कि भारतीय जनता पार्टी एक अवसरवादी, सत्तालोलुप राजनैतिक संगठन है। भाजपा का सहयोगी राजनैतिक दल होने के बाद भी झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने लोकसभा>एल.एस.हरदेनिया
 


 

अब मिशन नहीं राजनीति पेशा है!
नेताओं की चल-अचल संपत्तियां इसका प्रमाण है

 

 राज के लिए, राज के द्वारा संचालित नीति का नाम राजनीति है। रही होगी इस राजनीति की कभी मिशन-भावना किंतु अब व्यवसाय के दायरे में आने वाले हर क्षेत्र की तरह राजनीति भी एक महत्वपूर्ण, यशवर्धक, कीर्ति>राजेंद्र जोशी


सउदी अरब : बदलाव की इच्छा लिये अंगड़ाई
वे चुनौती बन सामने आने लगी

    हाल में खबर आयी की सउदी में धार्मिक पुलिस के खिलाफ गुस्सा बढ़ रहा है। एक महिला ने तो एक धार्मिक पुलिस पर गोली चलायी तो दूसरी घटना में महिला ने एक अफसर के नाक पर ऐसा घूसा जमा दिया कि>अंजलि सिन्हा


 

जाति गणना से परहेज क्यों ?

देश में इन दिनों जाति की गणना को लेकर एक अजीब तरह की सनसनी फैली हुई है। समाज तो पहले ही तमाम खानों में बँटा हुआ था, इधर केन्द्र व राज्यों की सरकारें भी इस मुद्दे पर आपस में ही बँट गई हैं। इस प्रकार अब> सुनील अमर


 

बीजों से बढ़ती चुनौतियाँ

दुनियाभर में बड़ी संख्या में कृषि वैज्ञानिक,सामाजिक कार्यकर्ता,पर्यावरणविद्,छोटे बीज उत्पादक और किसान तेजी ये घटती जैव विविधता को लेकर चिंतित है। उल्लेखनीय है कि जैव विविधता में यह क्षरण उत्पादकता और खाद>डॉ. सुनील शर्मा


 

मनरेगा के भ्रष्टाचार पर संजीदा नहीं सरकार

       यूपीए सरकार की महत्वाकांक्षी योजना महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के क्रियान्वयन में गड़बड़ियों और आर्थिक अनियमितताओं की खबरें हमारे मुल्क में आए दिन दैनिक समाचार पत्रों की सुर्खियों में>जाहिद खान


 

वरिष्ठ नागरिकों के
मानवाधिकारों के प्रति होती उपेक्षा


  'मतृ देवो भव, पितृ देवो भव' के संस्कारों में पले बढ़े हम भारतीय संस्कृति के पोषक लागे अपने माता-पिता को देवता मानकर उनका आदर करते नहीं अघाते। माता-पिता के ऋण से अपने को उऋण करने का जज्बा हमारे>डॉ. देवप्रकाश खन्ना


 

12 जून बाल-श्रम के खिलाफ विश्व दिवस पर विशेष
भारत को बाल-श्रम के कलंक
से छुटकारा कब ?


 वैसे तो भारत में बाल श्रम कानूनन प्रतिबन्धित है। फिर भी बाल-श्रम का न्मूलन सम्भव नहीं हो पा रहा है। लगभग 75 वर्ष पूर्व रोलेक्ट आयोग ने कहा था- 'बाल-श्रम भारतीय श्रम व्यवस्था पर काला धब्बा है। सचमुच, आज़ादी>डॉ. गीता गुप्त


 

भविष्य का प्रिंट मीडिया

 तीत का कोई भी समाज ऐसा नहीं रहा, जिसमें असमानता, अन्याय, शोषण, हिंसा और भूख न रहें हों और मानव जाति चाहे जितनी भी शिक्षित व जागरुक हो जाए ऐसा समाज बन नहीं सकता जिसमें समता, न्याय और भूखें>प्रमोद भार्गव


 

बेतहाशा काम, बेशुमार दाम,
इससे हुई मौतें तमाम

यर इंडिया एक्सप्रेस की दुबई से मेंगलोर आने वाली फ्लाइट दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इसके कारणों की जाँच चल रही है। ब्लेक बॉक्स मिल गया है। अभी तक जो भी पता चला है, उससे यही लगता है कि यह दुर्घटना>डॉ. महेश परिमल


07 जून-2010

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved