संस्करण: 05मई-2008

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT

अलग अलग दिशाओं में भागते आडवाणी के रथ के घोड़े
अपने को प्रधानमंत्री पद के लिए नामित कराने के बाद आडवाणी जी ने अपने जिस रथ को प्रधानमंत्री पद की ओर हाँकना प्रारम्भ किया है >वीरेन्द्र जैन


      



बहुत कठिन है डगर नेपाल की:भारत को सम्हलकर चलना होगा
अब चूंकि नेपाल में चुनाव संपन्न हो चुके हैं और यह स्पष्ट हो चुका है कि वहाँ की सत्ता पर माओवादी कम्यूनिस्टों का >एल.एस.हरदेनिया


नाम और संबोधनों को लेकर बेमतलब का बवाल
राजनीति के नाम पर हमारे देश में नये-नये पैंतरे ईजाद किए जा रहे हैं। राजनैतिक पार्टियाँ सत्ता तक पहुँचने के अपने-अपने दावों के लिए >राजेन्द्र जोशी


             


  


अप्रवासी और अपराध ?
क्या शहरों में बढ़ते अपराध का सीधा ताल्लुक शहरों में आए दिन पहुंचनेवाली प्रवासी आबादी से है ? प्रत्यक्ष या अपरोक्ष तरीके से यह प्रश्न अक्सर उठता रहता है। >सुभाष गाताड़े


आत्मनिर्भरता लिए संकट बनी वैश्विक आर्थिक नीति
भू-मण्डलीय अर्थव्यवस्था आत्मनिर्भरता के संकट को बढ़ा रही है। केन्द्र सरकार द्वारा बढ़ती महंगाई पर नियंत्रण न पाने के कारण आम आदमी के स्वावलंबन का >प्रमोद भार्गव


       


 


जरूरी है कृषि उत्पादों पर उत्पादन सब्सिडी
 भारत में योजनावध्द विकास के दौरान गरीब तबकों और किसानों को राहत देने के लिए सब्सिडी का प्रावधान किया गया है। हमार  >डॉ. सुनील शर्मा


बदल गई है मायावती की प्राथमिकताएँ
चौथी बार उ0प्र0 की मुख्यमंत्री बनी कु0 मायावती के तेवरों में वह प्रशासनिक सख्ती नहीं है जो इससे पूर्व के उनके कार्यकाल में हुआ करती थी। उनकी सरकारी प्राथमिकताओं में भी अधिकारी रुचि नहीं ले रहे हैं।  >सुनील अमर


              


  


क्या बुंदेलखंड का विकास राज्य निर्माण से ही संभव है ?
पृथक बुंदेलखंड राज्य की मांग फिर ज़ोर पकड़ने लगी है। काँग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने अपने बुंदेलखंड दौरे में अलग राज्य की मांग >महेश बाग़ी


''भारत खोज यात्रा'' रमन-शिवराज की नींद हराम
उ.प्र. की मुख्यमंत्री बसपा की सुप्रीमों के बाद अब छत्तीसगढ़ और मधयप्रदेश में राहुल गांधी की भारत खोज यात्रा से रमन सिंह और शिवराज सिंह की >राजेन्द्र श्रीवास्तव


     



राजनीतिक हित के लिए राष्ट्रीयता की बलि नहीं हो
राजनीति का वास्तविक उद्देश्य होना चाहिए राष्ट्रीय हित परन्तु अक्सर होता यह है कि राजनीतिक हित के सामने राष्ट्रीय हित बौना हैं कि उनका >डॉ. राजश्री रावत ''राज''


''वाहनों ने किया हाल-बेहाल''
आज वायु प्रदूषण कितनी बड़ी समस्या बन चुका है, यह बात किसी से छिपी नहीं है। देश के ज्यादातर शहरों में हवा साँस लेने >स्वाति शर्मा

 

          

 

        

दगाबाज हुआ ईश्वर का प्रतिरूप्

ईश्वर दु:ख से मुक्ति दिलाते हैं, तो डॉक्टर दर्द से। इसीलिए डॉक्टर को ईश्वर का दूसरा रूप कहा जाता है। पीड़ा से कराहता व्यक्ति डॉक्टर में ईश्वर के दर्शन करता है। उसे पूरा विश्वास होता है कि  >डॉ. महेश परिमल


          05 मई 2008

Designed by-PS Associates
Copyright 2007 PS Associates All Rights Reserved