संस्करण: 04फरवरी-2008

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI FONT

भाजपा मुख्यमंत्रियों को मोदी बनने के आदेश पार्टी में 'अडवानी युग' आया अस्तित्व में
भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की हाल ही में नई दिल्ली में हुई बैठक से 'अडवानी युग' अस्तित्व में आ गया है। लोकसभा का निर्वाचन जब होना हैं, तब होगा,    > राजेन्द्र जोशी

      


     

भूटान में चुनाव का ड्रामा
सारी दुनिया और विशेष रूप से दक्षिण एशिया के बचे देशों नेपाल और भूटान से भी राजतंत्र को विदा होना पड़ रहा है। सत्ता ऐसी चीज होती है जों आसानी से नहीं छूटती । राजा तो कुर्सी को अपनी बपौती मानते ही रहे हैं >वीरेन्द्र जैन


बर्ड फ्लू से बौखलाया देश
बर्ड फ्लू ने एक बार फिर भारत में दस्तक दे दी है। इस बीमारी ने केंद्र के साथ-साथ कई राज्य सरकारों की नाक में दम कर दिया है। पश्चिम बंगाल के अधिकांश जिले बर्ड फ्लू की चपेट में आ गए हैं। साथ ही पडोसी राज्य बिहार  >मंतोष कुमार सिंह

  


         

हथेली पर सरसों उगाने में लगी शिवराज सरकार
सीधी, शिवपुरी, लांजी, खरगोन और सांवेर उपचुनावों में लगातार हार के बाद जब भाजपा ने विचार मंथन किया तो पता चला कि सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार इसका प्रमुख कारण है। खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह  >डॉ. दर्शना सिंह


महिलाओं की सुरक्षा का सवाल
किसी भी समाज के सभ्य होने का पैमाना यह होना चाहिए कि उसमें औरतें खुद को कितनी सहज और सुरक्षित महसूस करती हैं। अफसोस की बात है कि आधुनिकता और विकास की दिशा में तेज़ी से क़दम बढ़ा रहे हमारे देश में  >अखिलेश सोलंकी

     


               

इंसाफ के घर देर है अंधेर नहीं
हमारे मुल्क में साम्प्रदायिक हिंसा के पीड़ितों को इंसाफ मिलना हमेशा मुश्किल और तकलीफदेह रहा है. गोया कि मुल्क के मुख्तलिफ हिस्सों में साम्प्रदायिक हिंसा के शिकार हुए लोग आज भी इंसाफ की बाट जोह रहे हैं. दंग    >ज़ाहिद खान


राजनीति में महिला-आरक्षण का औचित्य
महिलाओं की प्रतिभा का लोहा सभी राजनीतिक दलों ने माना है फिर भी राजनीति में 33: महिला-आरक्षण की माँग पूरी नहीं हो सकी है। पुरुष तैंतीस प्रतिशत आरक्षण महिलाओं को देकर संसद और विधान-सभाओं में अपनी संख्या  >डॉ. गीता गुप्त

       


 

सार्वजनिक वितरण प्रणाली एवं महिला नेतृत्व
हम उदार हुए और वैश्वीकरण की आंधी ने सभी को ग्लोबल बना दिया। हम चाहते थे कि हमारे यहाँ भी जादुई विकास हो और बाजार आधारित विकास हमारी प्राथमिकता बन गया।   >लोकेन्द्र सिंह कोट


छोटे राज्यों से विकास ज्यादा
लघु रूप में छिपी महानता, वैभव, ऐश्वर्य व विकास खूब परिलक्षित होता है। इसलिए, छोटे प्रांतों में विकास का पहिया खूब दौड़ता है। यथा: पंजाब, हरियाणा, केरल। नवगठित प्रदेशों में उत्तराखण्ड, झारखण्ड, छत्तीसगढ़ शामिल हैं। >अंजनी कुमार झा

         


       

लगातार उपेक्षा से बर्बाद होता किसान
vktknh ds 60 o"kZ i'pkr vc Hkh d`f"k {ks= yxkrkj mis{kk dk f'kdkj gS] rFkk misf{kr gksdj ns'k dh vFkZO;oLFkk dk vkčkkj LraHk d`f"k {ks= leL;kvks ds Hkaoj esa Qal x;k gSA > डॉ. सुनील शर्मा


धूम्रपान के विरोध में संगठनों की पहल
भारत में तम्बाकू उत्पादों के पैकेटों पर चेतावनी संदेशो को बड़े और कड़े शब्दों में छापने का दबाव बनाने के लिए अब संगठनों ने इसे अभियान के तौर पर लिया है और सरकार से इसे लागू न कर पाने के लिए अपने विज्ञापनों मै  >मिथिलेश कुमार

        


 

सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का स्वास्थ्य खस्ता है
मध्यप्रदेश समेत संपूर्ण देश में सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था का स्वास्थ्य बहुत ही खतरनाक स्थिति में है। इस तथ्य के बावजूद कि भारत एक समाजवादी गणतंत्र है, गरीबों के लिए स्वास्थ्य सेवाएं उनकी पहुँच के बाहर हो गई है। > एल.एस.हरदेनिया


कृषि नीति में सुधार
'केन्द्रीय कृषि मंत्री शरद पवार ने इस वर्ष गेहूँ का समर्थन मूल्य एक हज़ार रुपए प्रति क्विंटल देने की घोषणा की है। उम्मीद की जा रही है कि सरकार के इस कदम से भारतीय किसानों को आर्थिक लाभ होगा, जिससे उनकी माली > महेश बाग़ी

               


                

''बाल अधिकारिता-आसान नहीं है डगर''
बच्चे हमारा भविष्य हैं, यदि इनकी रक्षा नहीं की जाएगी, तो देश व दुनिया का भविष्य उज्जवल नहीं हो सकता। वे हमारी नींव हैं और कमजोर नींव पर मज़बूत इमारत खड़ी नहीं हो सकती।यह अत्यंत डरावना तथ्य है कि दुनिया में
>स्वाति शर्मा


 
                  04 फ़रवरी 2008
 

Designed by-PS Associates
Copyright © 2007 PS Associates All Rights Reserved